पहाड़ की इस बेटी को ढूंढने में मदद करें





उत्तराखंड के लोगों ने किसी की मदद के लिए हमेशा दिल खोलकर हाथ बढ़ाए हैं। एक बार फिर से आपकी जरूरत  है। एक पिता को अपनी बेटी की तलाश है, जो जानवरों को चराने के लिए पास के जंगल में गई थी लेकिन तबसे वापस नहीं लौटी। 13 साल की अंजलि पंत पिथौरागढ़ मकी रहने वाली हैं। उनके पिता का नाम विशन पंत है। बताया जा रहा है कि अंजलि 3 मार्च को पास के जंगल में जानवरों को चराने गई थी। तबसे अंजलि वापस नहीं लौटी है। जिस बेटी की हंसी से घर आंगन में खुशियां रहती थीं, आज वो घर सूना पड़ा है। माता-पिता अंजलि की तलाश में दर दर भटक रहे हैं। गांव के सभी लोग परेशान हैं और अंजलि की खोजबीन में लगे हैं। पुलिस को इस बात की खबर दे दी गई है और पुलिस भी अंजलि की तलाश में जुटी है। सभी के दिल में बस ये ही दुआ है कि अंजलि जहां भी हो, सही सलामत हो।


गांव वाले भी लगातार तलाश में जुटे हैं लेकिन कुछ भी पता नहीं लग पा रहा है। सोशल मीडिया पर लगातार मुहिम चल रही है कि अंजलि के परिवार की मदद करें। उधर समाजसेवी रोशन रतूड़ी ने भी कहा है कि अंजलि के परिवार की मदद करें, उन्होंने अंजलि का पता लगाने वाले को ईनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने लिखा हबै कि अगर आपको अंजलि का पता चलता है, तो (+971-5040-91-945) पर संपर्क करें। वास्तव में 13 साल की बच्ची को आपकी मदद की दरकार है, उस बेटी के परिवार पर क्या बीत रही होगी, ये उन माता-पिता से बेहतर कोई जानता, जिन्होंने नाजों से अपनी बेटी का पालन-पोषण किया था। थक-हार कर परिवार वालों नें पुलिस में गुमशुदगी होने की रिपोर्ट दर्ज करा दी है । उतराखंड पुलिस भी रात-दिन अपनी तरफ से पूरी तरह से खोजबीन मे लगी है।


उत्तराखंड की इस मासूम बिटीया का पता लगाने के लिए , ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करै, और इंसानियत के लिए इस मासूम बेटी को ढूँढने मैं मदद करें ।
इस मासूम बिटीया का पता बताने वाले को मेरी तरफ से 25,000 रूपये नगद इनाम दिया जायेगा ।
नाम अंजली पतं ,उम्र-13 वर्ष , पिता का नाम-विशन पतं ,जिला-पिथौरागढ उतराखंड, ये मासूम बिटीया अंजली पतं 3 मार्च को जानवरों को चराने के लिए पास के जंगल में गयी थी ,परंतु जंगल से लौटकर घर नहीं आई । अंजलि के माता-पिता बेटी की तलाश मे जगह-जगह भटक रहे हैं, रो-रो कर बुरा हाल है ।गाँव के सभी लोग बहुत परेशान है सभी ने काफ़ी खोजबीन की परंतु, अभी तक अंजली पतं का कोई पता नहीं लग पाया है ।
जब कहीं भी मासूम अंजलि का पता नहीं लगा पाया आखिर मै परिवार वालों नें पुलिस में गुमशुदगी होने की रिपोर्ट दर्ज करा दी है । उतराखंड पुलिस भी रात-दिन अपनी तरफ से पूरी तरह से खोजबीन मे लगी है ।
भगवान करें ये मासूम बेटी जहाँ कहीं भी हो सकुशल हो । जिस किसी सज्जन को इस बिटीया का पता लगे तुरंत मुझे नीचे लिखे इस नंबर पर सम्पर्क करै । ( +971-5040-91-945)
आपका सेवक
रोशन रतूडी ( Social Activist)
RR Humanity-1st Dev Bhoomi Uttrakhand

0 comments:

Post a Comment