खुशखबरी! पहाड़ की अंजलि बरेली में मिली




कुछ दिन पहले एक खबर आई थी। पिथौरागढ़ से 13 साल की अंजलि पंत गायब हो गई थी। खबर आई थी कि अंजलि 3 मार्च को पास के जंगल में जानवरों को चराने गई थी। तबसे अंजलि वापस नहीं लौटी तो सोशल मीडिया पर सिस्टम को लेकर सवाल उठने लगे थे। अब अच्छी खबर ये है कि अंजलि वापस आ गई है। समाजसेवी रोशन रतूड़ी ने अपने फेसबुक पेज के माध्यम से खबर दी कि अंजलि का अपहरण किया गया था और उसे पुलिस की लगातार कोशिशों के बाद वो बरेली में सुरक्षित मिली। यहां सबसे बड़ा सवाल जो खड़ा होता है...वो शब्द है ‘अपहरण’? आज अंजलि सकुशल घर लौट आई, लेकिन ऐसी कितनी अंजलि हैं, जिन पर अपहरणकर्ताओं की नज़र है? क्या सच में पहाड़ में बेटियां सुरक्षित नहीं रह गईं हैं ? सवाल इसलिए भी क्योंकि पिथौरागढ़ से अंजलि लापता हुई थी और बरेली में जाकर मिली है।

अगर ये वास्तव में अपहरण था, तो इस बात को ऐसे ही जाने नहीं दिया जा सकता। पहाड़ में बेटियों की सुरक्षा बेहद जरूरी है और इसके लिए पुलिस विभाग को सतर्क रहने की काफी जरूरत है। हम उत्तराखंड पुलिस को बधाई देना चाहते हैं कि आप अंजलि को वापस ले आए लेकिन इसके साथ साथ ये भी जरूरी है कि उस सिंडिकेट का पता लगाया जाए, जो पहाड़ में बेटियों के अपहरण की साजिश रच रहा है। सवाल सुरक्षा का है और बेहद जरूरी भी...इसलिए सावधानी में ही सुरक्षा है।



0 comments:

Post a Comment